kyc kya hai? kyc kyu jaruri hai, kyc full form जाने हिंदी में

kyc क्या है, kyc का full form क्या है  


kyc full form in hindi


हेलो दोस्तों आपने कभी न कभी kyc का नाम तो जरूर सुना होगा और अगर आपका बैंक में अकाउंट है या आप अपने स्मार्टफोन में paytm या phonepe जैसे app को use करते है तो आपने भी कभी न कभी kyc कारवाई होगी पर क्या आपको पता है kyc क्या है और kyc करना क्यों जरुरी है अगर आपको नहीं पता तो आप इस आर्टिकल में kyc के बारे में सब कुछ जान जाएंगे। आज के समय में kyc हर जगह जरुरी हो गई है फिर चाहे आपको बैंक में अकाउंट खुलवाना हो, लोन लेना हो, क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड लेना हो, या फिर insurance करवाना हो हर जगह आपको अपनी kyc करवानी ही पड़ती है यहाँ तक की अगर आप अपने फोन में paytm या phonepe जैसे apps का इस्तेमाल कर रहे हैं तो भी आपको अपने paytm या phonepe अकाउंट की kyc करवाना पड़ेगा वरना आप paytm या phonepe के सभी फीचर्स को use नहीं कर पाएंगे लेकिन क्या आपने सोचा है की kyc क्यों करवानी पड़ती है क्योंकि अगर मैं बात करू paytm या और किसी एप्प की तो आप जब भी इनमे अपना अकाउंट बनाते हैं तो आप अपनी सारी डिटेल्स डाल देते हैं फिर भी kyc की जरुरत क्यों पड़ती है इसीलिए आज हम जानेंगे kyc क्या है, kyc का फुल फॉर्म क्या है और kyc की जरूरत क्यों पड़ती है। 

Kyc क्या है 

Kyc financial sector में बहुत ही जरुरी हो गया है kyc का इस्तेमाल Financial Institutions अपने कस्टमर्स की पहचान करने के लिए करते है। बैंक या insurance companies अपनी सेवाएं देने से पहले ग्राहकों की पहचान करना चाहती हैं जिस वजह से वो kyc का इस्तेमाल करती है ताकि कस्टमर को कोई भी सर्विस देने से पहले उसकी आइडेंटिटी और एड्रेस की पहचान हो जाये ताकि कस्टमर किसी भी सर्विस का गलत इस्तेमाल न कर पाए। Bank, insurance या कोई भी कंपनी kyc के लिए आपसे कुछ documents मांगती है जिससे आपकी identity और आपके address का verification हो जाता है जिस वजह से आप बैंक या फिर मोबाइल एप्लीकेशन जैसे की paytm और phonepe की सभी सेवाओ को use कर पाते है। अगर आसान शब्दो में कहा जाये तो kyc एक प्रोसेस है जिसमें कस्टमर्स की जानकारी को अपडेट किया जाता है उसके डाक्यूमेंट्स के जरिये ताकि कस्टमर्स को bank या insurance companies की services को use करने में कोई परसानी न आये और आज कल हो रहे fraud को रोका जा सके। 

kyc full form - kyc का full form "know your customer" है

Kyc full form in hindi

आपने ये तो जान लिया की kyc क्या है लकिन क्या आपको kyc का फुल फॉर्म पता है अगर नहीं तो आपको बता दे kyc का फुल फॉर्म है know your customer इसका हिंदी में मतलब होता है अपने ग्राहक को जाने। अब आपको पता चल गया होगा की kyc का फुल फॉर्म क्या होता है।

Kyc क्यों जरुरी है 

Banks और financial institutions के लिए kyc बहुत ही जरुरी term हो गया है क्योंकि kyc के जरिये किसी भी person की identity और address का verification हो जाता है जिससे कोई भी बैंक या financial institutions बेफिकर हो जाते हैं। 

कस्टमर्स की सेफ्टी के लिए भी kyc बहुत जरुरी है क्योंकि पहले बहुत से ऐसे मामले हुए हैं जिनमे धोखाधड़ी और जालसाजी करके बैंक अकाउंट से पैसे निकाल लिए गए हैं ऐसे में बैंक्स को तो नुक्सान होता ही है साथ साथ कस्टमर्स का भी भरोसा खत्म होता है और उन्हें अपने पैसो की सेफ्टी पर संदेह होता है। इन्ही सब कारणों की वजह से kyc को जरुरी कर दिया गया है ताकि रोज हो रहे फ्रॉड को कम किया जा सके। 

Kyc document list

आपको kyc करने के लिए कुछ डाक्यूमेंट्स की जरुरत पड़ती है। आप वो सभी डाक्यूमेंट्स को kyc के लिए use कर सकते हैं जो आपकी पहचान और आपका एड्रेस बताते हो इसके अलावा आपके डाक्यूमेंट्स भारत सरकार द्वारा मान्य होने चहिये। मैं कुछ डाक्यूमेंट्स की लिस्ट आपको बता देता हु जो kyc में इस्तेमाल होते हैं। 

  • Aadhaar Card
  • Passport
  • Voter’s Identity Card
  • Driving Licence
  • Pan Card

Conclusion

उम्मीद है दोस्तों आपको kyc के बारे में जानकारी अच्छी लगी होगी। आपके kyc से लेकर जो भी सवाल थे वो क्लियर हो गए होंगे मैंने इस आर्टिकल में आपको kyc के बारे में पूरी जानकारी दे दी है जैसे की kyc क्या है, kyc का फुल फॉर्म क्या है, kyc क्यों जरुरी है। इसीलिए अब कोई भी बैंकिंग सेवाएं लेने से पहले अपनी kyc अच्छे से करवा ले। 




Post a Comment

0 Comments